कैसे होगी चिडियाघर में जानवरो की देख भाल

कानपुर नगर, कानपुर चिडियाघर में विभिन्न प्रजातियों के जानवर व पंक्षी है जो चिडियाघर में आकर्षण का प्रमुख केंद्र बने रहते है। इसी प्रकार अन्य वन्यजीव भी बाडों में रहते है। इन जानवरो की देखरेख का भार यहां नियुक्त कीपरो का होता है। पूरे जू में 78 बाडे है और बाडों में मौजूद जानवरों की देखरख करने के लिए यहा महज सात कीपर काम कर रहे है, मतलब एक कीपर के पास लगभग 10 बाडो की जिम्मेदारी, जबकि एक कीपर के पास चार बाडों के काम की जिम्मेदारी होनी चाहिये। ऐसे में बाडांे की देखरख किस प्रकार हो रही होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। वहीं चिडियाघर में कीपरो के 15 पद है जिसमें सात कीपर ही नियुक्त है जबकि आठ कीपरो के पद खाली है। ऐसे में सात कीपरो से ही किसी प्रकार काम चलाया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार आने वाले अगस्त माह में दो कीपरो का रिटायरमेंट है, जिनके रिटायर होने के बाद महज पांच कीपर ही बचेंगे और ऐसे में स्थिति बिगड सकती है। कुल कीपरो के पदो पर पूरी नियुक्ति आज तक नही की गयी और जो है भी उनमे दो रिटायर होने के बाद जानवरों की देखभाल को किस प्रकार मेंनटेन किया जायेगा। ऐसे में यह कमी जानवरो की स सुरक्षा के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। वहीं चिडियाघर के निदेशक दीपक कुमार ने कहा कि कीपरो के साथ अन्य कर्मियों की नियुक्ति के लिए शासन को जल्द प्रस्ताव भेजा जायेगा।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *