ज्योति बाबा की हुंकार… जिम्मेदार मौन :- प्रदेश की राजधानी में पॉलिथीन खाने से प्रतिवर्ष 1000 गायों की हो रही मौत…ज्योति बाबा

कानपुर, 20 जुलाई गौ हत्या और गौ संरक्षण मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य में महत्वपूर्ण मुद्दे होने के बावजूद पॉलिथीन से गाय की मौत को गंभीरता से क्यों नहीं लिया जा रहा है प्लास्टिक में मौजूद जहरीला पदार्थ 20 फिनाल  बीपी ए रंगीन या सफेद प्लास्टिक जार कप के द्वारा शरीर में पहुंचकर मस्तिष्क के विकास को रोककर बच्चों की स्मरण शक्ति पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में कोरोना मिटाओ नशा हटाओ प्लास्टिक भगाओ अभियान के तहत आयोजित वर्चुअल अवेयरनेस मीटिंग शीर्षक प्लास्टिक और हमारा पर्यावरण में अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कहीं,श्री ज्योति बाबा ने कहा कि घटिया प्लास्टिक पानी के पाउच के कारण हारमोंस बनने की प्रक्रिया बाधित होने के साथ प्रजनन पर नकारात्मक प्रभाव डाल रहा है कई बार प्लास्टिक को निस्तारण के उद्देश से जला दिया जाता है जिससे ग्रीनहाउस गैस उत्पन्न होकर ग्लोबल वॉर्मिंग की समस्या उत्पन्न हो जाती है इसीलिए कोरोना महामारी में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखने के लिए प्लास्टिक में गर्म खाने या कॉफी का सेवन ना करें।फैमिली हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ अजीत सिंह ने कहा कि बच्चों के प्लास्टिक खिलौने खासकर चीन से आने वालों में खतरनाक रंगों में आर्सेनिक और शीशे का इस्तेमाल किया जाता है जो बच्चों के मुंह से शरीर में पहुंचकर कैंसर तक के रोगी बना देते हैं।संविधान रक्षक दल के राष्ट्रीय संयोजक राजेंद्र कश्यप ने कहा कि शराब की बोतल के अलावा दूध की बोतल,कोल्ड ड्रिंक्स और पैक्ड फूड को नमी से बचाने के लिए कई कंपनियां प्लास्टिक में इसी खतरनाक रसायनिक कोटिंग करती है खतरनाक रसायन शरीर में पहुंचने पर हार्ट गुर्दे लीवर और फेफड़ों को गंभीर क्षति पहुंचाते हैं मानवाधिकार वादी स्वामी गीता ने कहा कि प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री ने तीन चरणों में पॉलिथीन पर प्रतिबंध लगाया, जिसमें 2 अक्टूबर से सभी पॉलीबैग्स के इस्तेमाल पर बैन लगाया गया और अब क्षेत्रीय जनता और स्थानीय निकाय को मिलकर काम करने की ठोस रणनीति तैयार करनी ही होगी, वरना यह पॉलिथीन कोरोना जैसे अन्य वायरस के लिए वातावरण तैयार कर देगी।अंत में योगगुरु ज्योति बाबा ने तंबाकू हटाओ पॉलिथीन को नित्य के जीवन से निकालने की महाशपथ सभी को दिलायी। वर्चुअल अवेयरनेस मीटिंग्स का संचालन लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्डधारी आलोक मेहरोत्रा व धन्यवाद समाज चिंतक राकेश चौरसिया ने दिया।अन्य भाग लेने वाले प्रमुख सर्वश्री कृष्ण मोहन गिरी, मनोज कुमार पाल,अमित गुप्ता,मुन्ना चौरसिया इत्यादि थे।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *