ज्योति बाबा की जुबानी….. प्रदूषण के चलते हर व्यक्ति के जीवन के ढाई साल कम…ज्योति बाबा

कानपुर 22 जुलाई l विलासिता के नजदीक जाते-जाते कब हम प्रकृति से दूर होते गए हमें पता ही नहीं चला पहले हमने पानी को खोकर बोतल बंद पानी को अपनाया अब प्रदूषित हवा के विकल्प के रूप में एयर प्यूरीफायर को अपना रहे हैं इसीलिए भारत जैसे देश में जहां 65 प्रतिशत आवादी आधा पेट भोजन पर जीने को मजबूर है वहीं पर अरबों खरबो रुपए का पानी एक वर्ग पी जाता है आखिर गरीब कैसे इस माहौल में जिएगा उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में संविधान रक्षक दल के सहयोग से कोरोना मिटाओ नशा हटाओ हरियाली बढ़ाओ अभियान के तहत वर्चुअल मीटिंग विषय क्या आज का विकास ही विनाश बन रहा है पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कहीं, श्री ज्योति बाबा ने आगे कहा कि आज हम जिस विकास के लिए दौड़ रहे हैं उसी में विनाश छिपा है इसीलिए ना हम गर्मी बर्दाश्त कर पा रहे हैं न सर्दी, ac के ज्यादा उपयोग ने गर्मी सर्दी को एक नया आयाम दे दिया है|

अधिक गर्मी के पीछे वायु प्रदूषण है और एसी या इस तरह की सुविधाएं वातावरण में हाइड्रो फ्लोरो कार्बन क्लोरो फ्लोरो कार्बन की मात्रा बढ़ाते हैं जिसका पर्यावरण पर प्रतिकूल असर पड़ता है|

इससे प्रकृति का तापक्रम पर नियंत्रण खत्म हो जाता है फिर गर्मियों के दिन भट्टी की तरह लगते हैं और जाड़े फ्रिज की तरह व्यवहार करते हैं ज्योति बाबा ने बताया की राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में दिवाली के बाद 15 सो रुपए प्रति किलो की दर से पहाड़ों की हवा बेची गई l संविधान रक्षक दल के राष्ट्रीय संयोजक राजेंद्र कश्यप ने कहा कि दुनिया की 91 प्रतिशत आवादी वायु प्रदूषण से प्रभावित है क्योंकि हम 1 वर्ष में इतना कूड़ा कचरा प्रदूषण पैदा करते हैं कि जिसको निस्तारित करने के लिए ढाई प्रथ्वी की जरूरत पड़ेगी l फैमिली हॉस्पिटल के डायरेक्टर समाजसेवी डॉ अजीत सिंह ने कहा कि आज वायु प्रदूषण दुनिया में पांचवा सबसे बड़ा रिस्क फेक्टर बन गया है इसके कारण सांस की बीमारियां , ह्रदय रोग, फेफड़ों के कैंसर और त्वचा जैसे रोग असामान्य रुप से बढ़ चुके हैं l

केवल वर्ष 2017 में ही 30 लाख pm 2.5 के चलते काल के जाल में समा गए थे l पर्यावरण प्रेमी मनोज कुमार पाल ने कहा कि प्रदूषण के कारण बच्चों में अस्थमा,मानसिक विकार और भूलने की बीमारियां याददाश में कमी बहुत ज्यादा उत्पन्न हो रही है इसीलिए हम सबको प्रदूषण मुक्त भारत का संकल्प लेना ही होगा l वर्चुअल मीटिंग का संचालन limca बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्डधारी आलोक मेहरोत्रा व धन्यवाद समाज चिंतक राकेश चौरसिया ने दिया l अंत में सभी को प्रदूषण मुक्त बचपन बनाने की शपथ ज्योति बाबा ने दिलाई l अन्य विचारक सर्व श्री कृष्ण मोहन गिरी,स्वामी गीता,महंत रामअवतार दास इत्यादि समेत 15 विचारको ने अपने विचार व्यक्त किए l

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *