नशे के रोग में नौजवान..कैसे बनेगा भारत महान…ज्योति बाबा

कानपुर, 3 अक्टूबर देश के गांव देहात क्षेत्रों में मिलावटी खाद्य पदार्थों का धंधा जोरों पर है उपभोक्ता को उसके मूल्य पर मिलावटी खाद्य पदार्थ दिए जा रहे हैं और जिम्मेदार आंख मूंद कर लोगों को रोगमय बनता देख रहे हैं तो स्वस्थ भारत फिट इंडिया मूवमेंट गंदगी मुक्त भारत कैसे सफल बनेगा।

गांव-गांव मिलावटी शराब खाद्य पदार्थ पान मसाला इत्यादि आसानी से उपलब्ध होने के चलते छोटे-छोटे बच्चे भी कैंसर रोग के शिकार बन रहे हैं आने वाली पीढ़ी बर्बाद हो रही है जबकि इनको रोकने के कठोर कानून बने हुए हैं उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में नशा हटाओ कोरोना मिटाओ बेटी बचाओ अभियान के तहत दनादन मंदिर गौशाला चौराहा कानपुर में आयोजित वर्चुअल संगोष्ठी शीर्षक मिलावटी खाद्य पदार्थ और विकृत होता।स्वास्थ्य पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने कहा कि जब मेडिकल जैसे क्षेत्र में बिलो स्टैंडर्ड दवाएं खुलेआम बेची जा रही हैं सब्जी मसालों व पान मसालों में जमकर मिलावट के चलते बच्चों के दिमाग की केमिस्ट्री गड़बड़ा रही है।

जिससे उनमें वक्त से पहले जवान होने के हारमोंस विकसित होकर व्यभिचार को जन्म दे रहे हैं ज्योति बाबा ने आगे कहा कि कैसे मिलावट का इतना बड़ा खेल फुलप्रूफ प्रशासन होने के बावजूद जारी है यदि इसका नेटवर्क तोड़ने के लिए शासन ने कोई ठोस योजना नहीं बनाई तो उत्तर प्रदेश बीमारू प्रदेश के नाम से भारत में जाना जाएगा तब शायद किसी भी सरकार के द्वारा उठाए गए कोई भी हितकारी कदम निष्फल हो जायेंगे।

कुलदीप सिंह परमार एडवोकेट सहित सभी समाजसेवी व वक्ताओं ने एक स्वर में शासन व प्रशासन से एक स्वर में अनुरोध किया कि जो खाद्य पदार्थ गरीब अपनी मेहनत की पूंजी से लाता है उसे यदि नकली मिले तो वह ज्यादा दिन तक काम नहीं कर पाएगा।

जिससे देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा और इसके चलते करोड़ों बीमार बच्चों का इलाज करने के लिए सरकारें खरबों रुपया कहां से लाएगी।अन्य भाग लेने वाले प्रमुख सर्वश्री ओम नारायण त्रिपाठी,भूपेंद्र सिंह भाटिया,मुन्ना चौरसिया,संजीव गुरुजी,अजय शर्मा एडवोकेट इत्यादि थे।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *