महिलाओं व लड़कियों में भी तंबाकू उत्पादों का तीव्र सेवन के चलते मिल रहा मुख कैंसर का तोहफा…ज्योति बाबा

कानपुर, 21 मार्च डब्ल्यूएचओ ने इस वर्ष को विश्व मुख स्वास्थ्य दिवस की थीम हमें अपने शुद्ध मुख पर गर्व है पर मनाया जा रहा है भारतवर्ष में प्रतिवर्ष 1200000 से काफी ज्यादा लोग तंबाकू व अन्य नशीले उत्पादों के कारण सबम्यूकस फाइब्रोसिस कैंसर की प्रथम अवस्था के शिकार बन रहे हैं इसीलिए हमें अपने मुख स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना चाहिए,उपरोक्त बात सोसायटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में नशा हटाओ बेटी बचाओ पेड़ लगाओ कोरोना भगाओ अभियान के अंतर्गत विश्व मुख शुद्धि दिवस के परिप्रेक्ष्य में विश्नोई डेंटल हॉस्पिटल नवाबगंज में आयोजित ई- संगोष्ठी हमारा “शुद्ध मुख देता है – भरपूर शारीरिक सुख”पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कही‌।

बाबा श्री ने आगे कहा कि आज गरीब व अमीर सभी समान रूप से अपने मुख को पान मसाला,तंबाकू, सुपारी,सिगरेट व शराब इत्यादि से दूषित कर गुदाद्वार से भी ज्यादा गंदा बना रहे हैं जबकि यह प्रमाणित है कि स्वस्थ शरीर का प्रवेश द्वार शुद्ध मुख् ही होता है जिस प्रकार हम सब घर के प्रवेश द्वार को सुंदर बनाने का जतन करते हैं उसी प्रकार से अपने शरीर मन व आत्मा में श्रेष्ठ तालमेल बनाए रखने के लिए मुख शुद्धि को प्रथम स्थान पर रखें।

वरिष्ठ डेंटल सर्जन डॉक्टर मनीष विश्नोई ने बताया की हमारे हॉस्पिटल में जहां पान मसाला तंबाकू सेवन के चलते 10 साल पहले 15 वर्ष के ऊपर के लोग इलाज कराने आते थे वही अब कम उम्र में तंबाकू उत्पादों के प्रयोग के कारण मुख ना खुलने की शिकायत वाले ज्यादा आ रहे हैं, सबसे दुखद बात मुख ना खुलने के चलते स्वस्थ भोजन करने से वंचित लोग शादी के संस्कार भी नहीं कर पा रहे हैं जिसके कारण कुंठा, हताशा और निराशा के शिकार होकर आत्महत्या तक कर लेते हैं हमें अंतरराष्ट्रीय मुख स्वास्थ्य दिवस पर सभी को अपने मुख को बेहतर बनाने का संकल्प लेकर बच्चों के सम्मुख उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत करना ही होगा।तभी हम भारत को स्वास्थ्य के क्षेत्र में विश्व में अग्रणी बना सकते हैं।इस संगोष्ठी का संचालन आलोक मेहरोत्रा व धन्यवाद दीप कुमार मिश्रा सीए ने दिया।अन्य भाग लेने वाले प्रमुख अंशु सिंह सेंगर,अनीता दुआ,कुंवर बहादुर सिंह,स्वामी गीता,सीमा खान एडवोकेट,महंत राम अवतार दास अनिल सैनी एडवोकेट इत्यादि थे।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *