विश्व स्वास्थ्य दिवस का है संदेश प्रदूषण,कुपोषण व नशा मुक्त हो अपना देश..ज्योति बाबा

कानपुर, 7 अप्रैल विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के अनुसार प्रत्येक 10 में से 7 बच्चे एनीमिया से पीड़ित हैं जबकि महिलाओं की तीस फ़ीसदी से ज्यादा आबादी कुपोषण की शिकार है महिला सशक्तिकरण के लिए व मिशन शक्ति की सफलता हेतु स्वस्थ बालिका का होना अपरिहार्य है उपरोक्त बात सोसायटी योग ज्योति इंडिया व उत्तर प्रदेश वैश्य व्यापारी महासभा के संयुक्त तत्वाधान में कोरोना मिटाओ हरियाली लाओ नशा हटाओ बेटी बचाओ अभियान के तहत आयोजित ई संगोष्ठी शीर्षक “स्वस्थ भारत के लिए हर व्यक्ति की पहुंच में हो निशुल्क इलाज” पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरू ज्योति बाबा ने कही,बाबा श्री ने आगे कहा कि प्रत्येक शहर में हर व्यक्ति के स्वस्थ रहने के लिए जरूरी शुद्ध जल व शुद्ध हवा हेतु नेचुरल ऑक्सीजन जोनों का जाल बिछाकर प्राकृतिक तरीके से किया जा सकता है ऐसा कर बार-बार छोटी-मोटी बीमारियों का शिकार बनने से बचकर परिवार व समाज की समृद्धि में सहायक बन सकेंगे।

ज्योति बाबा ने बताया कि डब्ल्यूएचओ मानता है कि दुनिया की कम से कम आधी आबादी को आज भी जरूरी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध नहीं है आज कोरोना काल में हम इलाज नहीं बेहतर बचाओ का मंत्र अपनाकर अपने स्वास्थ्य को उत्तम बना सकते हैं।प्रदेश अध्यक्ष सत्यप्रकाश गुलहरे ने कहा कि भारत में कुछ वर्षों में तीव्र विकास के साथ स्वास्थ्य क्षेत्र की चुनौतियां लगातार बढ़ रही हैं जिनमें एड्स,कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों के प्रकोप के साथ ह्रदय रोग,मधुमेह रोग मोटापा तनाव नशा जनित रोग तेजी से बढ़ चुके हैं इसीलिए हम सबको मिलकर विश्व स्वास्थ्य दिवस के उद्देश्यों को सरकार के साथ मिलकर साकार करना होगा।

प्रदेश उपाध्यक्ष अनूप अग्रवाल ने जोर देकर कहा कि कोरोना जैसे वायरस के समक्ष जब पिछले साल अमेरिका जैसे विकसित देश को भी बेबस अवस्था में हम देख चुके हैं इसीलिए भारत में तो सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं लगभग नगण्य हैं इसलिए बचाव ही एकमात्र इलाज हमारे पास है।ई संगोष्ठी का संचालन सुभाष अग्रवाल व धन्यवाद इंजीनियर जगन मोहन गुप्ता ने दिया,प्रमुख सहयोगी गणेश गुप्ता प्रदेश महामंत्री, रामगोपाल गोयल प्रदेश उपाध्यक्ष,देवेंद्र गुप्ता,डॉ अर्चना गुप्ता,गीता,बीना अग्रवाल इत्यादि थी।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *