हृदय रोग पहुंचाता है शमशान..क्योंकि पान मसाला,सिगरेट,शराब है मेरी जान…ज्योति बाबा

कानपुर, 29 सितंबर वर्तमान में व्यवस्थित दिनचर्या नशा तनाव गलत खानपान पर्यावरण प्रदूषण एवं अन्य कारणों के चलते लोग तेजी से ह्रदय रोगी बन रहे हैं इसीलिए एक करोड़ से ज्यादा लोग दुनिया में प्रतिवर्ष दिल के दौरे का शिकार होकर मौत को गले लगाते हैं जिनमें तंबाकू शराब सिगरेट ड्रग्स और हुक्का बार 80% से ज्यादा भूमिका निभाते हैं।

उपरोक्त बात सोसायटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में बूंदे संस्था के सहयोग से नशा हटाओ कोरोना मिटाओ बेटी बचाओ अभियान के तहत विश्व हृदय दिवस के अवसर पर दनादन मंदिर गौशाला चौराहा में आयोजित वर्चुअल संगोष्ठी शीर्षक हृदय रोग नशा और हास्य योग पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरू ज्योति बाबा ने कही।

श्री ज्योति बाबा ने आगे कहा कि दिल को स्वस्थ रखने के लिए दिल खोलकर हंसना अच्छा होता है मेडिकल एक्सपर्ट्स कहते हैं कि फिजिकल एक्सरसाइज से हम बाहरी शरीर को फायदा पहुंचाते हैं लेकिन हमारे दिल के लिए एक्सरसाइज का काम हंसी करती है हास्य योग से दिल का ब्लड सरकुलेशन अच्छा रहने के साथ शरीर से एंडोमोरफिन नाम का केमिकल निकलता है।

जो दिल को मजबूत बनाता है इसीलिए हंसमुख व्यक्तियों को हार्ट अटैक की संभावना काफी कम हो जाती है श्री ज्योति बाबा ने बताया कि भले ही दिल बहुत नाजुक माना जाता हो लेकिन जब बात एनर्जी की आती है तो यह बहुत ताकतवर होता है जी हां रिसर्चस का दावा है कि हर दिन हमारा दिल इतनी एनर्जी पैदा करता है की एक ट्रक को 32 किलोमीटर तक चलाया जा सके और पूरे जीवन में इतनी एनर्जी जो चांद पर आने और जाने के बराबर हो।

गोष्टी के सभी वक्ताओं ने हृदय रोगों से बचने के लिए प्रथम उपाय नशा का पूर्ण त्याग बताया है तभी हम स्वस्थ हृदय के मालिक बने रह सकते हैं संगोष्ठी का संचालन लिम्का बुक धारी आलोक मेहरोत्रा व धन्यवाद समाज चिंतक राकेश चौरसिया ने दिया।अन्य भाग लेने वाले प्रमुख संजीव गुरु जी अजय शर्मा एडवोकेट कुलदीप सिंह परमार एडवोकेट स्वामी गीता इत्यादि थी।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *