परिषद के संस्थापक महामंत्री स्व. पी एन शुकुल की पुण्यतिथि पर वर्चुअल बैठक के द्वारा दी गई श्रद्धांजलि

कानपुर, 28 मई राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश के संस्थापक महामंत्री,राज्य सभा व विधान परिषद् सदस्य स्व. पी एन शुकुल को वर्चुअल बैठक के द्वारा श्रद्धांजलि दी गई।परिषद के जिला अध्यक्ष राजा भरत अवस्थी की अध्यक्षता में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में कोषागार कर्मचारी संघ के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष एस एम जेड नकवी ने कहा कि कर्मचारियों की रसमस्याओं के निराकरण हेतु पी एन शुकुल ने परिषद की स्थापना की और केन्द्र के समान राज्य कर्मचारियों को वेतन व महँगाई भत्ते दिलाने के लिए 66 दिन की हड़ताल की,सरकार को माँग को मानना पड़ा।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री संतोष तिवारी ने कहा कि राज्य कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण के लिए पी एन शुकुल ने दो वर्षो तक जेल में यातनाए झेली।स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी नेता प्रत्यूष द्विवेदी ने कहा कि उनके योगदान को कभी भुलाया नही जा सकता।बाल पुष्टाहार विभाग की सुपरवाइज़र्स एशोसिएशन की अध्यक्ष बहन श्रीमती मंजूरानी कुशवाहा ने कहा कि लखनऊ में परिषद भवन के निर्माण के लिए एक लाख रुपये की चेक देकर परिषद भवन को बनाने की आखिरी इच्छा रखी।

परिषद अध्यक्ष राजा भरत अवस्थी ने बताया कि सरकार कर्मचारियों की समस्याओं का निराकरण यथाशीघ्र कराए, एस्मा लगाए जाने से हम संघर्ष पर मजबूती से चलने की प्रेरणा अपने संस्थापक पी एन शुकुल से लेते हैं।सरकार पुरानी पेन्शन,कैशलेश इलाज,वेतन विसंगतियों को दूर करने,मोटर साइकिल भत्ता,कोरोना संक्रमण से मृत कर्मचारियों को एक करोड़ रुपये दिए जाने,संविदा कर्मचारियों को स्थायी किए जाने आदि अनेक न्यायसंगत माँगों को पूरा करने को तैयार रहना चाहिए,अन्यथा कर्मचारी शिक्षक अपनी न्यायपरक माँगों के लिए एस्मा से घबराने वाले नही है।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *