उक्त निर्देश आज मा0 मंत्री पंचायतीराज विभाग उत्तर प्रदेश/ प्रभारी मंत्री जी श्री भूपेंद्र सिंह चौधरी जी द्वारा कोविड 19 प्रबंधन के संबंध में आयोजित बैठक

कन्नौज, 25 मई ऑक्सीजन प्लांट्स निर्माण के कार्यों में तेजी लायी जाए।जनपद में वेंटिलेटर्स के संचालन हेतु व्यापक कदम उठाए जाएं।गेंहूँ खरीद में तेजी के साथ ही कृषकों का भुगतान समय से सुनिश्चित करें।रोस्टर तैयार कर बड़ी ग्राम पंचायतों व ग्रामीण एवं नगरीय निकायों में नियमित सेनेटाईजेशन एवं साफ सफाई कराई जाए।कोविड कंट्रोल केंद्र से नियमित बीमार व्यक्तियों के स्वास्थ्य का सत्यापन किया जाए। कंट्रोल रूम को और सक्रिय करते हुए शत प्रतिशत व्यक्तियों से वार्ता की जाए।

उक्त निर्देश आज मा0 मंत्री पंचायतीराज विभाग उत्तर प्रदेश/ प्रभारी मंत्री जी श्री भूपेंद्र सिंह चौधरी जी द्वारा कोविड 19 प्रबंधन के संबंध में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को दिए।उन्होंने मेडिकल कालेज प्रांगण में नव निर्माणाधीन ऑक्सीजन प्लांट हेतु संचालित सिविल कार्य का निरीक्षण करते हुये कार्य में प्रगति शीघ्र लाये जाने के निर्देश दिए।उन्होंने एकीकृत कोविड कमांड एंड कंट्रोल केंद्र के सम्वन्ध मेंआवश्यक जानकारी की जजिसमें बताया गया कि पूर्व में कंट्रोल रूम में 10 लाइनें संचालित थीं जिसे अब बढ़ाकर 15 लाइन कर दी गईं हैं,जिसके माध्यम से प्रतिदिन 03 शिफ्ट में विभिन्न अधिकारियों/ चिकित्सकों द्वारा होम आइसोलशन में रखे गए व्यक्तियों से वार्ता कर सभी आवश्यक जानकारी ली जाती है के एवं जिन व्यक्तियों से वडता नही होती है तो संवंधित की जानकारी निगरानी समिति के माध्यम से की जाती है एवं समवन्धित सूची मा0 जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध कराई जाती है,जिस संबंध में मा0 संसद एवं मा0 विधायक तिर्वा द्वारा भी उनके द्वारा नियमित निगरानी की पुष्टि भी की।

उन्होंने क्षेत्रों में कार्य करने वाली निगरानी समितियों द्वारा घर-घर में जाकर प्रत्येक व्यक्ति की ऑक्सीमीटर व थर्मल स्कैनर के माध्यम से जांच करते हुए मेडिकल किट उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस से बचने हेतु कोविड-19 नियमों का पूर्ण अनुपालन एवं जागरूकता ही आवश्यक है।उन्होंने हाल ही में वेंटिलेटर की क्रियाशीलता के सम्वन्ध में मीडिया के माध्यम से आयी खबर के संबंध में भी पुष्टि की जिसपर बताया गया कि जनपद में वेंटिलेटर पूर्ण रूप से कोविड कार्य में प्रयोग लाये जाने हेतु सही है परंतु वेंटीलेटर के संचालन हेतु एनेस्थेटिक के न होने के दृष्टिगत इन्हें क्रियाशील किये जाने में कठिनाई आ रही है,जिसपर उन्होंने मेडिकल कॉलेज प्राचार्य को शीघ्र इस गंभीर समस्या से उभरने हेतु व्यापक कदम उठाते हुए एनेस्थेटिक की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला अस्पताल में वेंटिलेटर हेतु कार्यरत स्टाफ को मेडिकल कालेज में लगाते हुए वेंटिलेटर को क्रियाशील किये जाने कब निर्देश दिये।उन्होंने ऑक्सीजन प्लांट के निर्माण के संबंध में भी आवश्यक जानकारी लेते हुए निर्देश दिए कि निर्माण कार्यों में तेजी लाई जाए जिससे आने वाले समय में किसी प्रकार की कोई समस्या ना उत्पन्न हो।उन्होंने मेडिकल कॉलेज व अन्य स्थानों पर भर्ती मरीजों एवं उन को दी जाने वाली सुविधाओं तथा भोजन आदि के संबंध में भी आवश्यक जानकारी की एवं निर्देश दिए कि भोजन की गुणवत्ता का विशेष ध्यान देते हुए नियमित व समय से भोजन उपलब्ध कराया जाए।उन्होंने कंटेनमेंट जोन में नियमित फोगिंग, सैनिटाइजेशन एवं साफ सफाई अभियान चलाया जाए जिससे संक्रमण बढ़ने से रोका जा सके।

श्री चौधरी जी जनपद में संचालित कम्युनिटी किचन के संबंध में भी आवश्यक जानकारी की जिसमें बताया गया की जनपद में तिर्वा एवं सदर तहसील के अंतर्गत दो एवं एनजीओ के माध्यम से भी दो कम्युनिटी किचन संचालित है जिससे गरीब असहाय व्यक्तियों को भोजन मोहिया कराया जा रहा है एवं मरीजों के परिजनों को भी कम्युनिटी किचन के माध्यम से भोजन उपलब्ध हो रहा है।उन्होंने कोरोना महामारी की तीसरी लहर के दृष्टिगत जनपद में चार सीएससी पर एवं मेडिकल कॉलेज में 100 बेड का पीआईसीयू तैयार शीघ्र किये जाने के निर्देश दिए।उन्होंने जनपद में कुल 38 केंद्रों पर हो रही गेहूं खरीद में तेजी लाए जाने एवं कृषको को शत प्रतिशत उनकी फसल का लाभ एमएसपी के आधार पर उनके खातों में उपलब्ध समय से कराए जाने के निर्देश दिए।उन्होंने जनपद के सभी केंद्रों की सूची माननीय जनप्रतिनिधियों को आज ही उपलब्ध कराए जाने के भी निर्देश दिए।उन्होंने जनपद में संचालित सभी औद्योगिक इकाइयों में भी कोविड-19 मौका पूर्ण अनुपालन सुनिश्चित कराए जाने के भी निर्देश दिए उन्होंने ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में प्रतिदिन सैनिटाइजेशन एवं सफाई कार्य कराए जाने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत प्रदेश में 31 मई तक कर्फ्यू संचालित है जिसमें पुलिस एवं प्रशासन अपनी महती भूमिका निभाएं एवं प्रयास करें कि व्यक्ति कम से कम बाहर निकले एवं निगरानी समितियों के माध्यम से नवनिर्वाचित प्रधानों को कोविड-19 का पालन शत प्रतिशत कराए जाने हेतु दबाव भी बनाया जाए।उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए बताया कि इस लहर में ग्रामीण क्षेत्र अत्यधिक प्रभावित हुआ है जिस हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड जांच बढ़ाए जाने के के भी निर्देश दिए।उन्होंने वैक्सीनेशन शत प्रतिशत कराए जाने पर जोर देते हुए निर्देश दिया कि सभी क्षेत्रों में फैली हुई भ्रामक जानकारियों से ग्रसित जनता को जागरूक किया जाए एवं बताया जाए की कोविड-19 महामारी से वैक्सीनेशन की एकमात्र इलाज है।अतः सभी जागरूक बने एवं सुरक्षित रहें।

बैठक में मा0 सांसद श्री सुब्रत पाठक, एवं मा0 विधायक तिर्वा श्री कैलाश राजपूत द्वारा भी कोविड 19 महामारी से जनता की सुरक्षा हेतु अपना पूर्ण योगदान जिला प्रशासन को देने हेतु आश्वस्त करते हुए कुछ क्षेत्रों में आने वाली समस्याओं के संबंध में जानकारी देते हुए शीघ्र समस्याओं को दूर किये जाने के निर्देश दिए।

बैठक में जिलाधिकारी श्री राकेश कुमार मिश्र एवं पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत वर्मा ने भी कोविड महामारी के संक्रमण के संवंधित व्यवस्थाओं के संबंध में संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

बैठक में अपर जिलाधिकारी(वि0/रा0), मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी, प्राचार्य मेडिकल कॉलेज एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक , जिला पंचायत राज अधिकारी, परियोजना निदेशक, सहित अन्य चिकित्सक व अधिकारी उपस्थित थे।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *