राकेश पाल की असमय मौत से पाल समाज में फैली शोक की लहर

लखनऊ, 10 तारीख को सुबह 04:00 बजे राजेंद्र नगर निवासी राकेश पाल अपना भरा पूरा परिवार छोड़ कर इस दुनिया से चले गए।आपके जाने से परिवार में एक मात्र पुत्र अमित पाल व धर्मपत्नी सावित्री पाल इस सदमे से उबर नहीं पा रहे हैं। राकेश पाल की बड़ी बहन रानी पाल व मीना पाल,भाई बड़े भाई राजकुमार पाल,राजेश पाल,राकेश पाल, रमेश पाल इस मौके पर उन्हें लगातार ढांढस बंधा रहे थे। पाल समाज के वरिष्ठ लोगों ने अन्य परिवारी जनों ने बताया कि राकेश पाल शुरुआत से ही अपने व्यवसाय के प्रति काफी जागरूक रहते थे।

आपने बहुत कम रुपयों से व्यवसाय शुरू किया था और लखनऊ में एक बड़ा मुकाम हासिल किया है।पाल समाज ने एक शोक सभा मे बताया की राजेंद्र प्रसाद पाल एक अच्छे व्यक्तित्व के स्वामी थे और हर किसी की मदद के लिए वह तत्पर रहते थे।आपने कई बार उन बच्चों को स्कूल भेजने का काम किया है जो फीस न दे पाने के कारण अपने घरों में बैठ गए थे या पढ़ने लिखने की अवस्था में होटलों में काम करने लगे थे।उनकी धर्मपत्नी सावित्री पाल ने रोते हुए बताया कि उन्होंने जीवन में हमेशा अच्छे कामों को बढ़ाने का काम किया।उनका पुत्र अमित पाल एडवोकेट ने कहा पिता के दिए हुए संस्कारों के कारण ही आज मैं एडवोकेट बना हूं।मृतक राकेश पाल का सनातन हिंदू विधि विधान से दाह संस्कार किया गया।अन्य शोक संतृप्त परिवारी जन प्रमुख (उन्नाव)डॉ० ओ.पी पाल,ओजस्वी पाल, (लखनऊ) राजेश पाल, कुंती पाल सोनी पाल गीता पाल दीपक पाल विजयपाल राम चंद्र पाल रजनी पाल कानपुर भोपाल मिथिलेश पाल इत्यादि।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *