कोरोना मुक्त मानव के लिए ज्योति बाबा ने मोक्षदायिनी मां गंगा का किया पूजन

कानपुर, 24 मई भागीरथी के तप की पर्याय,हमारे जन्म जन्मांतर के पापों को धोने वाली गंगा आज स्वयं मलिन हो चुकी है अपनी दुर्दशा पर आंसू बहाने को मजबूर है लेकिन हर सनातनी हिंदू धर्मावलंबियों के हृदय के अंतःस्थल पर वास करने वाली पतित पावनी मां गंगा को फिर फिर पूजन आरती कर कोरोना रोग से मुक्ति का हम वरदान मांगते हैं,उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में नशा हटाओ गंगा प्रदूषण मुक्त कराओ कोरोना मिटाओ बेटी बचाओ अभियान के तहत ई-संगोष्ठी शीर्षक मोक्षदायिनी मां गंगा को आज की स्थिति में लाने का जिम्मेदार कौन.? पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,बाबा जी ने आगे कहा कि कोरोना मुक्त मानव के लिए मोक्षदायिनी मां गंगा को नमन कर प्रदूषण मुक्त का संकल्प हमें भावी पीढ़ी के स्वास्थ्य के लिए लेना ही होगा,ज्योति बाबा ने कहा कि गंगा में बहने बहाने वाले अन्य कचरे और गंदगी के लिए क्या हम जिम्मेदार नहीं हैं इसीलिए कभी-कभी धर्मभीरु होना भी जरूरी होता है क्योंकि उससे लगता है कि कोई अदृश्य शक्ति हमारे गलत कार्यों को देख रही है परिणाम स्वरूप पहले घर से बड़े बुजुर्ग गंगा स्नान के पहले सभी को स्नान करा देते थे।

बाबा श्री ने कहा कि कोरोना कि इस तबाही से हमें सीख लेकर आने वाले कल के लिए जल जंगल और जमीन को प्रदूषित ना करने का संकल्प लें।जिससे हमारी सभ्यता और संस्कृत को सीचने वाली मां गंगा निर्मल बन सके।डॉ रविंद्र नाथ चौरसिया निवर्तमान अध्यक्ष आईएमए ने कहा कि बेहतर हो कि हम प्रकृति को संरक्षित व सम्मान करना सीख ले,वरना तबाहियों का दौर इससे भी भयावह आएगा।

राष्ट्रीय संरक्षक डॉ आर पी भसीन ने कहा कि कोरोना महामारी मे गंगा को भी लोगों ने मजबूरीबस मुर्दा बहाकर अप्रत्यक्ष रूप से दूषित करने का काम किया है और नमामि गंगे प्रोजेक्ट का असली चेहरा जनता के सामने आ गया।प्रदेश अध्यक्ष सत्यप्रकाश गुलहरे ने धन्यवाद देते हुए कहा कि गंगा की लहरों के किनारे बैठ कर एक दर्शन व अध्यात्मिक संदेश मिलता है।रविशंकर हवेलकर सदस्य प्रदेश सलाहकार शासन समिति ने कहा की धार्मिक आस्था के नाम पर ना जाने क्या-क्या गंगा में हम बहा देते हैं इसीलिए मां गंगा को मलिन बनाने के पाप के अधिकारी भी हम ही हैं।संगोष्ठी का संचालन प्रदेश महामंत्री गणेश गुप्ता व अनूप अग्रवाल प्रदेश महामंत्री संगठन ने किया।अन्य प्रमुख रोहित कुमार,विजय कुशवाहा,विमल माधव,महंत राम अवतार दास,गीता पाल इत्यादि थी।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *