जिद करो,ठान लो और बना दो कानपुर को स्मोक फ्री स्मार्ट सिटी…ज्योति बाबा

कानपुर, 30 मई धूम्रपान करने वालों में हृदय व स्वसन तंत्र,कैंसर और मधुमेह के रोगों का जोखिम ज्यादा होता है इन्हीं लोगों के शिकार लोगों में कोविड-19 की चपेट में आने और स्थिति के गंभीर होने की आशंका ज्यादा होती है यही वजह है धूम्रपान करने वालों के कोविड-19 की चपेट में आने का जोखिम बढ़ जाता है धूम्रपान से फेफड़े में ऐ सी ई-2 रिसेप्टर्स बढ़ जाते हैं जिससे वायरस को फेफड़ों तक पहुंच आसान हो जाती है उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया व वंचित समाज अनुसूचित जाति कल्याण महासमिति के संयुक्त तत्वाधान में विश्व तंबाकू निषेध दिवस के परिपेक्ष्य में तंबाकू हटाओ जीवन पाओ हरियाली लाओ कोरोना भगाओ अभियान के तहत आयोजित ई- संगोष्ठी शीर्षक “कोविड-19 और धूम्रपान” पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कही‌।

ज्योति बाबा ने आगे कहा कि अकेले भारत में 27 करोड़ से काफी ज्यादा वयस्क धूम्रपान करते हैं और भारत में तंबाकू उत्पादों के चलते प्रतिवर्ष बाइस लाख से ज्यादा लोग मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं कई करोड़ लोग बीमार हो जाते हैं ज्योति बाबा ने कहा कि कोविड-19 व अन्य वायरस के हमलों से बचने के लिए तंबाकू को जीवन से निकाले वरना यह आपको शमशान पहुंचा देगी।विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर हम सिर्फ एक दिन का तंबाकू उत्पादों का सेवन ना कर आप बचे रुपयों से पचास हजार कोरोना मरीजों का मुफ्त इलाज कर सकते हैं धूम्रपान,पान मसाला,तंबाकू नशा करने वाले यह न सोचे कि हमने तो कोवैक्सीन लगवा ली है इसलिए अब करोना हमें नहीं होगा जबकि इन चीजों के लगातार सेवन करते रहने से आप कभी भी गंभीर शिकार हो सकते हैं इसीलिए विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर योग ज्योति इंडिया के नेतृत्व में तंबाकू मुक्त युवा भारत शपथ ले कर अपने जीवन को निरोगी व आनंदमय बनाएं।

रवि शंकर हवेलकर सदस्य सलाहकार समिति उत्तर प्रदेश शासन ने कहा कि आंकड़ों के अनुसार 40% किशोर शुरू में एक सिगरेट रोज पीते हैं उनमें आगे चलकर नियमित धूम्रपान की लत देखने को मिलती है,संत रविदास सेवा समिति के डॉक्टर धीरेंद्र दोहरे ने कहा कि ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे के अनुसार करीब 82 से एक लाख के करीब बच्चे रोज धूम्रपान पीने की शुरुआत करते हैं जो काफी खतरनाक है,राष्ट्रीय संरक्षक डॉ आर पी भसीन ने कहा की यह भी एक सच है कि 70% लोग तंबाकू छोड़ना चाहते हैं लेकिन उनमें से तीन से 5% ही कामयाब हो पाते हैं क्योंकि तंबाकू में मौजूद निकोटिन तन और मन दोनों को गुलाम बना लेती है अंत में ज्योति बाबा ने पुनः सभी से 31 मई को कोविड-19 से बचने के लिए तंबाकू मुक्त युवा भारत शपथ लेने का सविनय अनुरोध किया।संगोष्ठी का संचालन समाजसेवी उमेश शुक्ला व धन्यवाद डॉक्टर रविंद्र नाथ चौरसिया निवर्तमान अध्यक्ष आईएमए ने किया।अन्य प्रमुख रोहित कुमार,विजय कुशवाहा,दिलीप कुमार सैनी,गिरजेश निगम,सलमान कुरेशी,राजू खान,ज्ञान शंकर गीता पाल,विमल माधव इत्यादि थी।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *