जिला भाजपा के कुछ नेताओं की सरपरस्ती में पत्रकार गीता पाल के पूर्वजों के धर्मशाला पर कब्जा…

दैनिक,

रतन ज्योति की संपादक

गीता पाल की पूर्वजों की धर्मशाला पर गया प्रसाद पुत्र सरेन पाल ने किया कब्जा।थाना गुरबक्शगंज के क्षेत्र मे गांव लालपुर मे रतन ज्योति की संपादक गीता पाल जी के पूर्वज की धर्मशाला पर गांव के ही दबंग गया प्रसाद पुत्र सरेन पाल ,संतोष पाल ने धर्मशाला की जमीन पर कब्जा कर आशियाना बना शुरू कर दिया।

गीता पाल को जब पता चला, तो वह सरेन पाल से मिलने गयी,तो बहुत ही दबंगयी वाली अंदाज मे कहा तुमको जो करना हो करो। मेरे ऊपर कुछ जिला भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों का हाथ है कहते हुए चले गये और धमकी भी दिया कि इस क्षेत्र में दिखाई पड़ी तो मरवा देगे।

जहां भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों को माननीय नरेंद्र मोदी और योगी जी के जनहित के संकल्प की योजनाओं को आम जन तक पहुंचाने का कार्य करना चाहिए ,वही, भा।ज।पा मे रिश्तेदारी की दुहाई देते हुए ,दूसरे की जमीन पर कब्जा करने के लिए भाजपा ने इस मानसिकता के लोगों को क्यों छोड़ रखा है।

ऐसे लोग की तुरंत जांच करनी चाहिए और पार्टी को बदनाम करने वालों को तुरंत बाहर का रास्ता दिखाना चाहिए ऐसे आदमी को जिसने अपने भाई भतीजावाद के तहत पार्टी नीतियों के विरुद्ध रिश्तेदारों को कब्जा दिलाने की शुरुआत कर छवि खराब करना शुरू कर दिया है .. रणविजय सिंह (संवाददाता)

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *