मित्र पुलिस का दूसरा रूप:- क्या पुलिस की मदद के बिना ड्रग्स का धंधा चल सकता है.?

कानपुर, 24 अगस्त कानपुर काकादेव एजुकेशन मंडी में नशे का इतना बड़ा अवैध व्यापार का पकड़े जाना यह जाहिर करता है कि छात्रों को ड्रग्स का लती बनाकर उन्हें समाज विरोधी बनाया जा रहा है क्योंकि ज्ञानी नशे का सेवन करता बनकर बड़ी तबाही का कारण बन जाएगा।

उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया व विमला नर्सिंग एंड फार्मेसी कॉलेज कानपुर के संयुक्त तत्वाधान में कोरोना व नशा भारत छोड़ो कार्यक्रम के तहत नशा मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत मानव श्रृंखला का आयोजन हरदौली में करने के बाद हुई सोशल डिस्टेंसिंग सभा में अंतर्राष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कही श्री ज्योति बाबा ने कहा कि कानपुर में जगह-जगह छोटे-छोटे बच्चे सिगरेट के छल्ले उड़ाते,पान मसाला सेवन करते दिख जाएंगे।

जो बड़े होकर ड्रग्स एडिक्ट ही बनेंगे, इसीलिए स्वस्थ भारत ,गंदगी मुक्त भारत के संकल्प को साकार करने के लिए हमें क्रांतिकारियों सा उत्साह भरकर भारत के बच्चों का बचपन नशे के रोग से बचाने का महाअभियान सामूहिक रूप से चलाना ही होगा वरना यह नशे के रोग से बीमार युवा भारत की आर्थिक राजनीतिक और सामाजिक स्वतंत्रता को नष्ट कर विकास के पथ से विमुख कर देगा।

ज्योति बाबा ने आगे कहा की एक ओर कोरोना मिटाने का गंभीर प्रयास सरकार कर रही है लेकिन पान मसाला तंबाकू का प्रचलन बढ़ाकर युवाओं की रोग प्रतिरोधक क्षमता को खत्म कर बीमार भी बना रही है डॉ अजीत सिंह डायरेक्टर फैमिली हॉस्पिटल ने कहा कि जो लोग शिवजी के नाम से नशे के सेवनकर्ताओं कि बड़ी फौज साधु और संतों के साथ खड़ी रहती है हमें इन सभी कुरीति का सामाजिक बहिष्कार करना होगा वरना यह इसे यूं ही धर्म से जोड़कर अपनी दुकानें बढ़ाते रहेंगे।

कोरोना काल में बढ़ी बेरोजगारी ने भी नशे के अवैध कारोबार को कई गुना बढ़ाया है, हमें समाज के उन लोगों को भी सम्मानित करना चाहिए जो ऊंचे ओहदे पर होने के बावजूद नशा व मांसाहार से कोसों दूर हैं। स्वामी गीता ने कहा कि शराब पर प्रतिबंध लगाकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी ने दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति को दिखाकर दूसरे मुख्यमंत्रियों के सम्मुख ऐसा करने का उत्कृष्ट उदाहरण रखा है।

क्योंकि आज बिहार में दूध दही और दूसरे पौष्टिक पदार्थों की खपत के साथ महिला हिंसा शोषण और अत्याचार में भारी कमी हुई है इसीलिए नीतीश कुमार जी नशा मुक्त भारत अभियान के आज जीवंत प्रेरणा पुरुष बन चुके हैं।मानव श्रृंखला में भाग लेने वाले अन्य प्रमुख राकेश चौरसिया,मुन्ना,रोली,स्वामी गीता,पंखुड़ी, अनामिका, संजना,कविता इत्यादि थे।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *