रामराज्य में नशा मुक्त भारत की मांग जायज…ज्योति बाबा

कानपुर, 8 अगस्त कानपुर शहर में शासन व प्रशासन की लाख कोशिशों के बावजूद तंबाकू पान मसाला सिगरेट और अन्य नशे से शहर में कोरोनावायरस विस्फोट के प्रमुख कारण बने हुए हैं क्योंकि w h o बार बार चेतावनी जारी कर रहा है कि कोरोना को समाप्त करने के लिए हर देश तंबाकू पान मसाला सिगरेट पर व्यापक जनहित में प्रतिबंध लगाए वरना लॉक डाउन का पूर्ण लाभ नहीं मिल पाएगा।

उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के
तत्वाधान में फैमिली हॉस्पिटल के सहयोग से कोरोना मिटाओ नशा हटाओ पेड़ लगाओ अभियान के तहत वेब संगोष्ठी शीर्षक “क्या पान मसाला तंबाकू सिगरेट व अन्य नशा के चलते कोरोना विस्फोट हो रहा है” पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्ति अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कहीं।

श्री ज्योति बाबा ने आगे कहा कि पान मसाला तंबाकू खाने वाला और सिगरेट के छल्ले निकालने वाले सार्वजनिक स्थलों का बेधड़क प्रयोग कर कोरोना प्रसार के वाहक बन रहे हैं,हाल के शोध से पता चलता है 18 वर्ष से अधिक उम्र की 4 में से लगभग एक महिला धूम्रपान करती है पान मसाला और तंबाकू का सेवन महिलाओं में तेजी से बढा है।

पुरुषों में यह शुक्राणु को नुकसान पहुंचाने के साथ पूरे जीवनकर्म को बदल देता है सबसे दुखद बात यह है कि फेफड़ों के कैंसर की डायग्नोसिस जब तक होती है तब तक कैंसर अंतिम स्टेज में पहुंच जाता है देश के प्रसिद्ध डाक्टर की माने तो सबसे अधिक मौतों का कारण तंबाकू व पान मसाला बन चुके है।

विश्नोई डेंटल हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ मनीष बिश्नोई ने कहा कि मुख कैंसर की मुख्य जड़ पान मसाला व तंबाकू बन चुके हैं और दुखद पहलू यह कि मौत से पहले इलाज के अत्यधिक खर्च के चलते परिवार को कर्जगीर बनाकर आत्महत्या की राह दिखा देता है फैमिली हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ अजीत सिंह ने कहा कि पान मसाले के नाम पर मिलाया जा रहा खतरनाक गेमबियर जिंदगी को विकलांग बना रहा है पता नहीं किन कारणों से मिलावटी पान मसाला बेखौफ बिक रहा है।

स्वास्थ्य सैनिक व व्यापारी नेता अनुपम जैन और स्वामी गीता ने संयुक्त रूप से कहा कि अब तो युवा लड़कियों ने बड़े शौक से पान मसाला व गुल तंबाकू मंजन को अपना लिया है जो भविष्य में विकलांग बच्चों के जन्म का कारण बनेगा।

समाजसेवी कुलदीप पाल ने कहा कि जब संविधान में लिखा है कि आजाद भारत में नशे का स्थान नहीं होगा तो फिर क्यों भारतीय बच्चों का बचपन नशे में डुबोया जा रहा है वेब संगोष्ठी का संचालन यूथ एक्टिविस्ट आलोक मेहरोत्रा व धन्यवाद समाज चिंतक राकेश चौरसिया ने दिया। अन्य भाग लेने वाले प्रमुख सर्व श्री मनोज कुमार पाल ,कृष्ण मोहन गिरी, नवीन पाठक ,स्वामी गीता ,इत्यादि थी।

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *