बीजेपी ने ठोकी अपनी ताल, यूपी के बादलों में छाया केसरिया रंग

उत्तर प्रदेश भाजपामय या यूं कहें कि मोदीमय नज़र आ रहा है. रुझान बता रहे हैं कि भाजपा उत्तर प्रदेश विधानसभा में स्पष्ट बहुमत के साथ वापसी की ओर बढ़ रही है. 14 वर्ष का वनवास खत्म हो रहा है और तीसरे पायदान की पार्टी सूबे की सरकार को अपने हाथ में लेती नज़र आ रही है.

शनिवार की सुबह आठ बजे से उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों की मतगणना शुरू हो चुकी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और उनके सुधार के एजेंडे के परिप्रेक्ष्य में एक तरह से जनमत संग्रह समझे जाने वाले इन चुनावों की मतगणना कई मायनों में देश की भावी राजनीति की दिशा तय करने वाली साबित होगी. आजतक आपके लिए मतगणना के पल-पल की खबर आपके लिए लाइव टीवी  पर ख़बरों के माध्यम से सबसे पहले और सबसे सटीक ढंग से प्रस्तुत कर रहा है.

सूबों का समर

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की 403 सीटों पर वोटों की गिनती हो रही है. देश के पांच राज्यों में संपन्न हुए विधान सभा चुनाव में सबसे ज्यादा चर्चा यूपी विधानसभा की ही है. देश के सबसे बड़े सूबे की सत्ता हासिल करने के लिए सभी दलों में होड़ है.

राज्य में सात चरणों में चुनाव कराया गया. पहले चरण में 15 जिलों की 73 विधानसभा सीटों पर 11 फरवरी को वोट डाले गए. पहले चरण में शामली, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, बागपत जैसे जिले शामिल थे. दूसरे चरण में 11 जिलों की 67 सीटों के लिए 15 फरवरी को वोट डाले गए थे. तीसरे चरण में 69 सीटों पर 19 फरवरी को चुनाव कराया गया था. चौथे चरण में 53 सीटों पर 23 फरवरी को वोटिंग हुई. पांचवें चरण में 52 सीटों के लिए 27 फरवरी को तथा छठे चरण में 49 सीटों पर 4 मार्च को चुनाव संपन्न हुआ. सातवें चरण में 40 सीटों पर 8 मार्च को वोट डाले गए.

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *